भारत में कोरोना से हुई मौतों को लेकर WHO की रिपोर्ट पर विशेषज्ञों ने उठाए सवाल, कही ये बात

कोरोना से हुई मौतों को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत को लेकर जो रिपोर्ट जारी की है, उस पर विवाद खड़ा हो गया है… जिस पर भारत ने आपत्ति दर्ज करवाई है… और साफ कर दिया गया है कि डब्लूएचओ द्वारा जारी किए गए आंकड़ों पर विश्वास नहीं किया जा सकता है… एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने इस ओर इशारा कर दिया है… उनकी तरफ से तीन बड़े कारण बता दिए गए हैं जिस वजह से डब्लूएचओ की रिपोर्ट पर भरोसा नहीं किया जा सकता है… वे कहते हैं कि भारत में जन्म और मृत्यु के आंकड़े दर्ज करने का व्यवस्थित तरीका है जिसमें कोविड के अलावा हर तरह की मौत के आंकड़े दर्ज होते हैं… जबकि इस आंकड़े का इस्तेमाल ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नहीं किया है… दूसरे कारण को लेकर डॉक्टर गुलेरिया ने कहा है कि डब्लूएचओ ने जो आंकड़े जमा किये हैं वो विश्वसनीय नहीं हैं… वो कहीं से भी उठा लिये गये हैं… अपुष्ट स्रोतों से, मीडिया रिपोर्ट्स से या किसी और स्रोत से जो अवैज्ञानिक तरीके से जमा किये गये हैं… विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वहां से आंकड़े ले लिये जिन पर भरोसा नहीं किया जा सकता…